रमईपुर के मेगा लेदर क्लस्टर की राह की जो बाधा है अब वह तीन जून को दूर हो जाएगी

संवाददाता : रमईपुर के मेगा लेदर क्लस्टर की राह की जो बाधा है अब वह तीन जून को दूर हो जाएगी। इसी बैठक में प्रस्तावित स्थल को औद्योगिक क्षेत्र घोषित किये जाने की उम्मीद है। इसके बाद तो पर्यावरण मंत्रलय की मंजूरी भी मिल जाएगी और यहां क्लस्टर की स्थापना का काम शुरू हो जाएगा।

WA0080रमईपुर में मेगा लेदर क्लस्टर की स्थापना के लिए तीन सौ उद्यमियों ने मेगा लेदर क्लस्टर डेवलपमेंट यूपी लिमिटेड नाम से कंपनी का गठन किया है। इस कंपनी का गठन यूपीएसआईडीसी प्रबंधन ने स्पेशल परपज व्हीकल के तहत कराया है। कंपनी ने 110 एकड़ भूमि के पुनर्ग्रहण के लिए 14 करोड़ रुपये राजस्व विभाग को उपलब्ध कराया था। प्रशासन ने भूमि का पुनर्ग्रहण कर लिया है। जबकि उद्यमियों ने किसानों से 40 एकड़ भूमि की रजिस्ट्री कराया है। केंद्र सरकार इस क्लस्टर की स्थापना में 110 करोड़ रुपये का अनुदान देगी। यह अनुदान राशि देने पर सैद्धांतिक सहमति भी बन चुकी है। अभी तक यूपीएसआईडीसी ने प्रस्तावित स्थल को औद्योगिक क्षेत्र घोषित नहीं किया है, जबकि पर्यावरण मंत्रलय ने कहा कि जब तक औद्योगिक क्षेत्र की अधिसूचना जारी नहीं होगी अनुमति पत्र जारी नहीं किया जाएगा। ऐसे में अब मुख्य सचिव आलोक रंजन ने बैठक बुलाया है। इस बैठक में ही यूपीएसआईडीसी प्रबंधन औद्योगिक क्षेत्र घोषणा से संबंधित औपचारिकताओं को पूरा कर सकता है। कंपनी के निदेशक अशरफ रिजवान का कहना है कि यहां तीन सौ औद्योगिक इकाइयों की स्थापना होगी। करीब एक हजार करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष निवेश होगा।

[su_table]

[widget id=”black-studio-tinymce-2″] [widget id=”meta-2″]

[/su_table]

Advertisements