करदाता बढ़ाने और सबको सहूलियतों पर फोकस

देश की जनसंख्या सवा सौ करोड़ की अपेक्षा महज 5.18 करोड़ करदाताओं की संख्या काफी कम है। इनकी संख्या बढ़ाने पर फोकस रखने के साथ ही प्रत्येक तक सहूलियतें पहुंचाने का खाका खींचा गया है। इसमें अहम भूमिका निभाते हुए जागरूकता लाकर अधिवक्ता व सीए मददगार बनें।

d27860ये बातें उप्र पश्चिमी व उत्तराखंड सर्किल के मुख्य आयकर आयुक्त आनंद दीप ने मर्चेट्स चेंबर सभागार में अभिनंदन समारोह के मौके पर कहीं। दीप प्रज्ज्वलन के बाद शुरू हुए समारोह में श्री दीप ने कहा कि मूलभूत ढांचा सुधारने के लिए किसी भी देश का राजस्व अहम है। इसलिए करदाता सही कर अदायगी करें और विकास में भागीदार बनें। सही आय बताने से दिक्कत के स्थान पर सहूलियत होती है। करदाता विभाग पर विश्वास करें। वैसे भी महज दो फीसद करदाताओं के मामले ही स्क्रूटनी में डाले जाते हैं।

श्री दीप ने कहा कि अधिवक्ताओं, सीए व करदाताओं की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करके निस्तारण किए जाने की पहल की गई है। इसके परिणाम भी जल्द दिखाई पड़ेंगे। इससे पहले मर्चेंट्स चेंबर ऑफ उप्र, कानपुर इनकम टैक्स बार एसोसिएशन, कानपुर चार्टर्ड एकाउंटेंट सोसाइटी, नेशनल डायरेक्ट टैक्स टिब्यूनल बार एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में चेंबर अध्यक्ष डॉ. आईएम रोहतगी, मुकुल टंडन व वरिष्ठ अधिवक्ता संतोष कुमार गुप्ता ने श्री दीप को सम्मान से नवाजा। मुख्य अतिथि का परिचय सीए सुधींद्र जैन ने कराया व स्मृति चिह्न् किटबा महामंत्री राजेश गुप्ता ने दिया। आभार उपाध्यक्ष अतुल मेहरोत्र, संचालन सीए डीसी शुक्ला ने किया। प्रधान आयकर आयुक्त देवेंद्र शंकर, केएम बाली, आयकर आयुक्त हरमीत सिंह, पीके बजाज समेत कई अधिवक्ता, सीए, व्यापारी व उद्यमी मौजूद रहे।

Advertisements