1,000 मेगावाट सौर ऊर्जा क्षमता हासिल करेगी रेल

solarpam_1433229674नई दिल्ली। भारतीय रेल ने ईंधन खर्च घटाने और कार्बन उत्सर्जन कम करने के लिए अगले पांच साल में प्रति वर्ष 1,000 मेगावाट सौर ऊर्जा बनाने की क्षमता हासिल करने की योजना बनाई है।
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने शुक्रवार को पर्यावरण दिवस पर हुई संगोष्ठी ‘भारतीय रेल के समक्ष पर्यावरण संबंधी चुनौतियां’ के दौरान कहा कि भारतीय रेल को समाज के प्रति अपने उत्तरदायित्व का अहसास है। इसे देखते हुए रेलवे ने ईंधन खर्च घटाने और कार्बन उत्सर्जन करने की एक व्यापक और बहु स्तरीय योजना बनाई है और इस पर चरणबद्ध तरीके से काम किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि ईंधन खर्च घटाना रेलवे की सबसे बड़ी प्राथमिकता है और इसके लिए वैकल्पित ऊर्जा स्रोतों पर ध्यान दिया जा रहा है। रेलवे ने अगले पांच वर्ष में 1,000 मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन और खपत क्षमता हासिल करने की योजना बनाई है। इसके अनुसार रेलवे में डिब्बों पर सौर पैनल लगाने के प्रयोग किए जा रहे हैं।
रेलवे अपने संस्थानों में भी सौर पैनल लगा रहा है और स्वच्छ ऊर्जा के अनुकूल भवनों का निर्माण कर रहा है। रेल मंत्री ने बताया कि पुणे और सिकंदराबाद में पर्यावरण के अनुकूल भवनों का निर्माण किया जा चुका है।

Advertisements