आयकर विभाग ने लांच किया टैक्स कैलकुलेटर, आसानी से जानिए टैक्स देनदारी

नई दिल्ली। नए सरल इनकम टैक्स रिटर्न (आईटीआर) फॉर्म के बाद अब आयकरदाता टैक्स कैलकुलेटर की मदद से अपनी वार्षिक देनदारी की भी गणना आसानी से कर सकेंगे। इसके लिए
सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेशन (सीबीडीटी) ने ऑनलाइन कंप्यूटर आधारित प्रोग्राम टैक्स कैलकुलेटर लांच किया है। आयकरदाता अपनी वार्षिक देनदारी की गणना के लिए आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर टैक्स कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं।
नई कर दरों पर आधारित है टैक्स कैलकुलेटर
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट भाषण में कर दरों के संबंध में नई घोषणाएं की थीं। यह कैलकुलेटर नई कर दरों के ही मुताबिक अपडेट किया गया है।
income_1435478895इस टैक्स कैलकुलेटर की भी है सीमा
आयकर विभाग की वेबसाइट पर मौजूद टैक्स कैलकुलेटर के जरिए कोई भी व्यक्ति या संस्था अपनी वार्षिक देनदारी की गणना के लिए इस्तेमाल कर सकता है। हालांकि आयकर विभाग ने यह भी कहा है कि कर दाताओं को सिर्फ इसकी गणना के भरोसे नहीं रहना चाहिए। आईटीआर के जटिल मामलों में कुछ और भी जरूरतें होती हैं। इनका हल इस टैक्स कैलकुलेटर के जरिए नहीं किया जा सकता। यह कैलकुलेटर सिर्फ आधारिक टैक्स गणना आसानी से करता है। सभी परिस्थितियों में सही टैक्स गणना इसके जरिए संभव नहीं है। आयकर रिटर्न नियमों, कानूनों आदि के प्रावधान पर भी निर्भर है। इसलिए आयकर दाताओं को पूरी तरह टैक्स कैलकुलेटर पर निर्भर नहीं होना चाहिए।
हाल ही में आया नया आईटीआर फॉर्म
हाल ही में सरकार ने विरोध के बाद सरल आईटीआर फॉर्म लांच किया है। नए फॉर्म में देरी की वजह से आयकर रिटर्न की तारीख एक माह आगे बढ़ाकर 31 अगस्त, 2015 तक कर दी गई है। नए फॉर्म में काफी सहजता से आयकर रिटर्न भरा जा सकता है।
Advertisements