बाजारों में एंटीक और कुंदन ज्वैलरी की मची धूम


19 OCTOBER 2016


कानपुर: शादियों और त्योहारों का सीजन सर्राफा बाजार के लिए सहालग लेकर आता है। ब्राइडल सीजन आ रहा है। एंटीक और कुंदन ज्वैलरी की धूम मची है। हीरे का साथ कुंदन का फ्यूजन भी खूब भा रहा है। दिवाली के साथ ऑफरों की भरमार ग्राहकों के स्वागत को तैयार है। युवाओं के लिए बाजार में लाइट वेट ज्वैलरी है। कीमत पांच हजार से शुरू होती है। वहीं संपन्न वर्ग के लिए दस लाख का हीरा और 25 लाख का सेट भी शोकेस में इंतजार कर रहा है। हीरा तो हमेशा की तरह हर वर्ग को अपनी तरफ लुभा रहा है। जेब के मुताबिक हीरे के गहने सभी प्रमुख शोरूम में मौजूद हैं। एक दर्जन से ज्यादा सॉलिटियर कंपनियां बिरहाना रोड की 30 से ज्यादा दुकानों में सजी हैं। वहीं शहर के प्रतिष्ठित प्रतिष्ठान अपना ब्रांड भी जमकर बेच रहे हैं। खास बात यह कि ग्राहकों का भरोसा नेशनल ब्रांड से ज्यादा शहर के सर्राफा घरानों पर है। यही वजह है कि अपने शहर में आज देश-विदेश के चर्चित ब्रांडों को पुराने घरानों से कांटे की टक्कर मिल रही है.करवाचौथ की पूर्व संध्या पर मंगलवार को देर शाम तक बाजारों में रौनक रही

चांदी का हर सिक्का नकली नहीं

बाजार में चांदी के सिक्के दो तरह के मौजूद हैं। एक अंग्रेजों के जमाने के और दूसरे आज के बने हुए। ब्रिटिश हुकूमत के सिक्कों को असली कहा जाता है। दो साल पहले बाजार में ब्रिटिश हुकूमत के नकली सिक्कों की बाढ़ आ गई थी। मेरठ और पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बनकर आने वाले यह सिक्के असली के नाम पर बेचे जा रहे थे। ऐसा इसलिए कि चांदी के असली सिक्कों पर चांदी के वजन के साथ उसकी एंटीक वैल्यू जुड़ी होती है। फिलहाल ऐसे सिक्कों की संख्या काफी घट गई है। इस समय बाजार में विभिन्न शुद्धता के सिक्के मौजूद हैं, जिनके दाम अलग-अलग हैं।

‘फोर सी’ है हीरे की कसौटी

हीरे का भाव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निकाला जाता है। इसकी इंटरनेशनल रेट लिस्ट को ‘रैपेरोपोर्ट’ कहते हैं। डॉलर में निकलने वाली यह सूची लंदन से यह हर 15 दिन में जारी होती है। इसमें 2 सेंट से 10 कैरेट वजनी हीरे का भाव शामिल होता है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा में उतार-चढ़ाव का सीधा असर हीरे की कीमत पर पड़ता है। हीरा कारोबारी रंजन लाल शाह ने कहा कि निवेश के इरादे से हीरा खरीदने की चाहत हो तो सॉलीटेयर (बड़ा हीरा) खरीदना फायदेमंद रहता है। गहने भी खरीदें तो छोटे डायमंड के बजाय बड़े हीरों को तरजीह दें। इनकी कीमत हमेशा अच्छी मिलती है।

जिस तरह सोने को कसौटी पर कसकर उसकी शुद्धता को परखा जाता है, ठीक उसी तरह हीरे की जांच-परख को ‘फोर सी’ की कसौटी पर परखा जाता है। ‘फोर सी’ यानी कट,कलर, क्लैरिटी और कैरेट से हीरे की क्वालिटी तय होती है। ‘फोर सी’ के आधार पर ही ब्रांडेड कंपनियां हीरे की गुणवत्ता का सर्टिफिकेट देती हैं। अब तो हीरे की फिनि¨शग और कटिंग इतनी जबर्दस्त होती है कि उनके भीतर विभिन्न आकृतियों को देखा जा सकता है। कटिंग के आधार पर हीरे को ग्रेड दिया जाता है। जिसे गुड, वेरीगुड, एक्सीलेंट कहा जाता है। एक्सीलेंट क्वालिटी के हीरे का कट मैग्नीफाइंग ग्लास से देखने पर दिल और तीर का निशान बनेगा। इनकी कीमत लाख रुपए से शुरू होती है।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s