सरकार ने नहीं बढ़ाई एटीएम निकासी की सीमा

केंद्र सरकार ने रोजाना एटीएम से पैसे निकाले जाने की सीमा में इजाफा नहीं किया है।

15_11_2016-atm-withdrawalनई दिल्ली: केंद्र सरकार ने रोजाना एटीएम से पैसे निकाले जाने की सीमा में इजाफा नहीं किया है। आपको बता दें कि नोटबंदी के चलते 500 और 2000 रुपए के नए नोटों के अनुरुप तैयार किए गईं एटीएम मशीनों के मद्देनजर रोजाना निकासी की सीमा को 4000 रुपए किया जाना था। लेकिन सरकार ने एटीएम निकासी की सीमा को न बढ़ाने का फैसला किया है। मौजूदा समय में कोई भी व्यक्ति एक दिन में एटीएम के जरिए 2,500 रुपए ही निकाल सकता है। गौरतलब है कि 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान 500 और 1000 रुपए के बड़े नोटों पर प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा कर दी थी।
अब सेविंग बैंक अकाउंट होल्डर्स पहले की तरह प्रतिदिन एटीएम के इस्तेमाल से 2,500 रुपए की निकासी ही कर पाएगा। यह सीमा नोटबंदी मामले पर बीते रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से की गई समीक्षा बैठक के बाद तय की गई है। एक नोटिफिकेशन के जरिए बताया गया है कि बीते तीन माह से संचालित करंट अकाउंट खाते से भी हफ्ते में 50,000 रुपए से ज्यादा की निकासी नहीं की जा सकती है।
सरकार ने बीते 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपए के बड़े नोंटों (बाजार में वितरित करेंसी का 86 फीसदी हिस्सा) पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद एटीएम से निकासी की सीमा 2,000 रुपए प्रतिदिन तय कर दी थी। इस सीमा को 19 नवंबर 2016 से बढ़ाकर 4,000 रुपए प्रतिदिन किया जाना था। आपको बता दें कि एटीएम निकासी की सीमा में हाल ही में इजाफा कर 2,500 प्रतिदिन कर दिया गया था।

अक्टूबर में 9.59 फीसदी रहा एक्सपोर्ट, 10 अरब डॉलर रहा व्यापार घाटा


अक्टूबर महीने में देश का एक्सपोर्ट 9.59 फीसदी बढ़कर 23.51 अरब डॉलर का रहा है। यह देश के निर्यात में होने वाली लगातार बढ़ोतरी है।
नई दिल्ली: अक्टूबर महीने में देश का एक्सपोर्ट 9.59 फीसदी बढ़कर 23.51 अरब डॉलर का रहा है। यह देश के निर्यात में होने वाली लगातार बढ़ोतरी है। देश के निर्यात में हुए इस इजाफे में ज्वैलरी और इंजीनियरिंग उत्पादों का विशेष योगदान रहा है। गौरतलब है कि सितंबर माह में एक्सपोर्ट 4.62 प्रतिशत बढ़कर 22.9 अरब डॉलर रहा था।
आंकड़ों के मुताबिक बीते साल की समान अवधि की तुलना में इस साल अक्टूबर महीने में इंजीनियरिंग उत्पादों के निर्यात में 13.86 प्रतिशत, रत्न एवं आभूषण के निर्यात में 21.84 प्रतिशत, पेट्रोलियम का निर्यात 7.24 प्रतिशत और रसायन निर्यात 6.65 प्रतिशत बढ़ा है।
आपको बता दें कि दिसंबर 2014 से मई 2016 तक देश का निर्यात लगातार 18 महीने तक गिरा था। इस साल जून में पहली बार निर्यात में बढ़ोतरी देखने को मिली। इसके बाद जुलाई और अगस्त में फिर गिरावट आई थी।
देश का आयात भी बढ़ा:
देश का निर्यात बढ़ने के साथ-साथ आयात में भी इजाफा हुआ है। अक्टूबर महीने में देश का आयात 8.11 प्रतिशत बढ़कर 33.67 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जिससे व्यापार घाटा इस दौरान 10.16 अरब डॉलर रहा। अक्टूबर में तेल का आयात 3.98 प्रतिशत बढ़कर 7.14 अरब डॉलर रहा। गैर-तेल आयात इस दौरान 9.28 प्रतिशत बढ़कर 26.53 अरब डॉलर रहा।

Advertisements