500-1000 के पुराने नोट 31 मार्च 2017 कर सकते है जमा

आरबीआई ने कहा कि नागरिक इस सुविधा का इस्तेमाल अपनी निजी क्षमता में इस अवधि के दौरान एक बार कर सकते हैं।

aqszvtwrg8

मुम्बई: आरबीआई ने चलन से बाहर किये गए उच्च मूल्य के पुराने नोट बदलने के वास्ते प्रवासी भारतीयों सहित उन लोगों के लिए आज रात शर्तंे जारी की जो कल तक ऐसा करने में असफल रहे थे। अमान्य किये गए उच्च मूल्य के नोट बैंकों में जमा करने का कल अंतिम दिन था।
 
आरबीआई ने आज देर शाम जारी एक बयान में कहा कि भारतीय नागरिक जो नौ नवम्बर से 30 दिसम्बर तक विदेश में थे, वे इस सुविधा का लाभ 31 मार्च 2017 तक उठा सकते हैं और प्रवासी भारतीय जो इस अवधि के दौरान विदेश में थे, वे चलन से बाहर हुए अपने नोट 30 जून 2017 तक बदल सकते हैं।
 
उसने कहा, ‘पात्र निवासी भारतीयों के लिए नोट बदलने की कोई सीमा नहीं है, प्रवासी भारतीयों के लिए यह संबंधित फेमा नियमों के तहत होगी (25 हजार रूपये प्रति व्यक्ति)’ आरबीआई ने कहा कि नागरिक इस सुविधा का इस्तेमाल अपनी निजी क्षमता में इस अवधि के दौरान एक बार कर सकते हैं। उन्हें इसके लिए पहचान पत्र के साथ ही इसका सबूत मुहैया कराना होगा कि वे अवधि के दौरान विदेश में थे और उन्होंने नोट बदलने की सुविधा का इस्तेमाल इससे पहले नहीं किया है।

sbiSBI ने दिया ग्राहकों को नए साल का तोहफा, घटाई ब्याज दर:

बैंक जल्द ही लोन पर लेने वाले ब्याज दरों में कटौती करेगी

नोटबंदी के कारण बैंकों में बड़ी तादाद में पैसा आया है। जिसके बाद से यह कयास लगाए जाने लगे थे कि अब बैंक जल्द ही लोन पर लेने वाले ब्याज दरों में कटौती करेगी। हालांकि आरबीआई ने इस बारे में अभी तक कोई ऐसा ऐलान नहीं किया है। लेकिन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया इसकी घोषणा कर दी है।मिली जानकारी के अनुसार, एसबीआई ने विभिन्न परिपक्वता अवधि के ऋणों पर ब्याज दरों में 0.9 पर्सेंट की कटौती कर दी है। यह कटौती 1 जनवरी 2017 से लागू होगी।

ajxtqh6c18एक जनवरी से निकाल सकेंगे 4500 रुपये:

नई दिल्ली :  नोटबंदी के बाद नकदी संकट से जूझ रहे लोगों को नये साल का तोहफा देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने एटीएम से दैनिक नकदी निकासी सीमा को ढाई हजार से बढ़ाकर 4500 रुपये कर दिया है। आरबीआई ने सभी सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, निजी क्षेत्र के बैंकों, विदेशी बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, शहरी सहकारी बैंकों, राज्य सहकारी बैंक और जिला केंद्रीय सहकारी बैंकों के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी को सर्कुलर जारी कर यह निर्देश जारी किया है।
हालांकि साप्ताहिक निकासी सीमा में कोई बदलाव नहीं किया गया है। बैंकों का ध्यान अब देशभर में 500 रुपये के नए नोटों की आपूर्ति बढ़ाने पर है जिससे नकदी की कमी से निपटा जा सके। उल्लेखनीय है कि 8 नवम्बर को नोटबन्दी की घोषणा के बाद एटीएम से 2500 रुपये निकालने की सीमा तय की गई थी, जिसे 52 दिन बाद बढ़ाया गया है। एक हफ्ते में बैंक और एटीएम से अधिकतम 24,000 रुपये ही निकाले जा सकेंगे। इस सीमा में अभी बदलाव नहीं किया गया है।
Advertisements