सरकार ने किया साफ, पांच और दस हजार के नोट लाने का कोई इरादा नहीं

24_03_2017-arjun-ram-meghwal
सरकार ने स्पष्ट किया है कि 5000 और 10,000 के नए नोट लाने की कोई योजना नहीं
नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने गुरुवार को स्पष्ट किया है कि 5,000 और 10,000 का नोट लाने का उसका कोई भी इरादा नहीं है। वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने लोकसभा में एक लिखित उत्तर में कहा, “इस मामले की जांच भारतीय रिजर्व बैंक के साथ परामर्श में की गई थी और इसलिए 5000 रुपये और 10,000 रुपये के नोट लागू करना उपयुक्त नहीं है।”
उन्होंने नकारात्मक जवाब दिया जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार ने नोटों के मुद्रण पर व्यय को कम करने के लिए 5,000/10,000 के नोट पेश करने का कोई प्रस्ताव रखा है। सरकार ने हाल ही में 2000 रुपए का नया नोट जारी किया था जिसके कुछ दिन बाद 500 रुपए का नया नोट जारी किया गया। दरअसल सरकार को ऐसा इसलिए करना पड़ा क्योंकि बीते साल 8 नवंबर को लिए गए नोटबंदी के फैसले के बाद 86 फीसद करेंसी (500 और 1000 रुपए के नोट) अमान्य कर दी गई थी।
इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने बीते महीने कहा था कि सरकार का 1000 रुपए का नोट जारी करने के संबंध में कोई इरादा नहीं है।
RBI जारी करेगा महात्मा गांधी सीरीज के 10 रुपये के नोट
भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) जल्द महात्मा गांधी सीरीज-2005 में 10 रुपये का नया नोट जारी करेगा। इस नए नोट के दोनों नंबर पैनल में एल (L) अक्षर लिखा होगा। साथ ही नए नोट पर रिजर्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर भी होंगे। नोट की पिछली तरफ छपाई का वर्ष 2017 अंकित होगा। यह जानकारी केंद्रीय बैंक ने एक आधिकारिक बयान में दी है। रिजर्व बैंक ने यह भी स्पष्ट किया है कि पूर्व में जारी किए गए 10 रुपये के सभी नोट पहले की ही तरह स्वीकार किए जाएंगे।
10 रुपये के नोट के अन्य फीचर्स में दोनों पैनल में बाएं से दाएं तरफ अंक छोटे से बड़े आकार में अंकित होंगे। वहीं, पहले तीन अल्फा-न्यूकमेरिक कैरेक्टर (उपसर्ग) एक ही आकार के बने रहेंगे। केंद्रीय बैंक ने एक अधिसूचना में बताया है कि बैंक की ओर से जारी किए गए पुराने 10 रुपए के नोट पहले की तरह मान्ये रहेंगे।

Advertisements