9 साल पहले इस महिला ने शुरू किया स्टार्टअप, पति ने कहा- अन्नपूर्णा है मेरी Wife

kanpur_1505987888कानपुर. यूपी के कानपुर की नितिका टंडन ढल बिजनेस वीमेन के लिस्ट में शामिल हो गई हैं। ये फूडू पिज्जा और वेजी हब के नाम से 2 रेस्टोरेंट चला रही है। जिसमें इनके पति शरद इनका बराबर साथ दे रहें हैं। पति का कहना है कि उनकी पत्नी साक्षात अन्नपूर्णा है। नितिका ने बिजनेस वीमेन बनने की कहानी Dainikbhaskar.com के साथ शेयर की।
सास ने सि‍खाया खाना बनाना…
– नितिका ने कहा, ”मेरे पापा रिटायर्ड रिजर्व बैंककर्मी है। मम्मी हाउस वाइफ है। घर में एक बड़ी बहन भी है। मैं घर में छोटी बेटी थी इस वजह से घर का कोई काम मैं नहीं करती थी।”
– ”डीजी कॉलेज से अंग्रेजी, इकोनॉमिक्स और कंप्यूटर में स्नातक करने के बाद 2001 में मेरी शादी किदवई नगर के रहने वाले शरद टंडन से हो गई। खाना बनाने से ज्यादा अच्छा लगता था पिज्जा, सैंडविच, बर्गर और चावमीन खाना।”
– ”शादी के बाद सास ने मुझे खाना बनाना सिखाया, धीरे-धीरे मैंने खाने के हर वेराइटी बनाना सीख ली।”
7 महीने में बंद करनी पड़ी थी शॉप
– नितिका ने कहा, ”हमने अपने वेजी वेब रेस्टोरेंट की शुरुवात 2007 में शहर के जेड स्क्वॉयर मॉल के फ़ूड कोर्ट में एक काउंटर किराए पर लेकर किया था। मगर किसी कारण 7 महीने बाद ही वहां से हटना पड़ा।”
– ”इसके बाद 2008 में किदवई नगर में वेजी हब रेस्टोरेंट की शुरुवात की। शुरुवात में इटालियन और साउथ इंडियन डिश को रखा, मगर 2 साल के बाद 2010 में इंडिया फ़ूड की भी शुरुवात कर दी।”
6 महीने तक पति-पत्नी खुद बनाते थे डिश
– ”शुरू में कारीगर नहीं मिल रहे थे। ऐसे में 6 महीने हम पति-पत्नी मिलकर रेस्टोरेंट में डिश बनाते और खुद कस्टमर को सर्व करते थे। सुबह 9 बजे से रात 11 बजे तक वहीं होटल में ही रहते थे।”
– ”सास-ससुर रेस्टोरेंट में काउंटर संभालते थे। सबसे ज्यादा मुश्किल काम हरी सब्जियों का लाना था। सब्जियों के लिए सुबह 5 बजे उठाकर पति के साथ सब्जी मंडी जाना पड़ता था।”
– ”2 साल के अंदर रेस्टोरेंट के खाने की चर्चा पूरे इलाके में होने लगी। इसके बाद यहां कारीगर भी आने लगे। जिसके बाद इटालियन और साउथ इंडियन डिश के लिए कारीगर रखे।”
– ”करीब 9 साल के कड़ी मेहनत के बाद वेजी वेब से इटालियन डिश के लिए अलग से फूडू पिज्जा के नाम से किदवई नगर में ही दूसरा रेस्टोरेंट मई 2017 में खोल दिया।”
घूम घूमकर खाना खाकर जाना स्वाद
– पति शरद ने कहा, ””मैं शेयर बाज़ार से जुड़ा हुआ था, इसलिए लाइफ में रिस्क लेना आदत थी। ऐसे में जब पत्नी ने अपने मन की बात सामने रखी तो हमने तुरंत हामी भर दी। सबसे पहले हम दोनो ने आउटिंग करनी शुरू कर दी।”
– ”शहर के कुछ नामी रेस्टोरेंट में खाना खाने जाते। कई जगह पर पिज्जा, बर्गर खाकर उसका स्वाद लेते। इसके बाद हमने 1 महीने के साउथ भारत का भ्रमण किया। वहां के डिश का जायका लिया। वहां के हर मशहूर डिश के बारे में बारीकी से जाना।”
– ”दोस्त, रिस्तेदार और जान पहचान के लोगो से भी राय ली। इसके बाद इस बिजनेस में कदम रखा। यहां 7 वेराइटी में पिज्जा उपलब्ध है। करीब एक दर्जन इटालियन डिश भी सर्व किए जाते हैं।”
– ”यहां सभी सामानो के रेट ब्रांडेड कंपनियों के रेट से करीब 20 फीसदी कम रखा है।”
IIT के अन्तरंगनी फेस्ट में दिखेगा फूडू पिज्जा का स्टाल
– ”इस बार आईआईटी में होने वाले अन्तरंगनी इवेंट में इनको भी अपना फूडू पिज्जा का काउंटर लगाने का कॉन्ट्रैक्ट मिला है। इसके साथ ही उद्धघाटन वाले दिन 300 पिज्जा आईआईटी में सप्लाई करने का भी ऑर्डर मिला है।”
– ”पत्नी पूरे कानपुर शहर में फूडू पिज्जा का 5 आउट लेट खोलने की तैयारी कर रही है, जगह की तलाश शुरू कर दी गई है।”
– शहर के बिजनेस वीमेन की लिस्ट में शामिल हो चुकी नितिका के हौसले की चर्चा आज पूरे शहर में है। इनका मानना है कि अगर हम हार मान जाते तो आज इस मुकाम पर नहीं होते।
Advertisements