रेल विकास निगम का आईपीओ 29 मार्च को खुलेगा, मूल्य दायर 17 से 19 रुपये प्रति शेयर

ETV

आईपीओ के तहत रेल विकास निगम के 25,34,57,280 शेयरों की बिक्री पेशकश की जाएगी. मूल्य दायरे के ऊपरी स्तर पर आईपीओ से 481 करोड़ रुपये जुटने की उम्मीद है.

नई दिल्ली : सार्वजनिक क्षेत्र की रेल विकास निगम लि. (आरवीएनएल) का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) 29 मार्च को खुलकर तीन अप्रैल को बंद होगा. कंपनी ने आईपीओ के लिए मूल्य दायरा 17 से 19 रुपये तय किया है. कंपनी को आईपीओ से 481 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है.

आईपीओ के तहत 6,57,280 इक्विटी शेयर पात्र कर्मचारियों के लिए आरक्षित होंगे. खुदरा व्यक्तिगत बोलीदाताओं तथा पात्र कर्मचारियों को पेशकश मूल्य पर 50 पैसे प्रति इक्विटी शेयर की छूट दी जाएगी.

यस सिक्योरिटीज (इंडिया) लिमिटेड, इलारा कैपिटल (इंडिया) प्रा. लि. और आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स एंड सिक्योरिटीज लि. को आईपीओ के लिए लीड प्रबंधक नियुक्त किया गया है. अलंकित असाइनमेंट्स को इस पेशकश के लिए पंजीयक बनाया गया है. कंपनी के शेयरों को बंबई शेयर बाजार और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध किया जाएगा.
यह भी पढ़ें : सेबी ने म्यूचुअल फंड उद्योग के लिये कमीशन, खुलासा नियमों में किया सुधार

डीएलएफ के क्यूआईपी को दोगुना अभिदान, 3,200 करोड़ रुपये जुटाने में मिलेगी मदद

Published on :7 hours ago

ETV

देश की सबसे बड़ी रीयल एस्टेट कंपनी डीएलएफ ने सोमवार को क्यूआईपी पेशकश शुरू की थी. इसमें निवेशकों के लिए 17.3 करोड़ शेयरों की पेशकश की गई है.

नई दिल्ली : रीयल एस्टेट क्षेत्र की दिग्गज कंपनी डीएलएफ की पात्र संस्थागत नियोजन (क्यूआईपी) पेशकश को दोगुना अभिदान मिला है. इससे कंपनी को करीब 3,200 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाने में मदद मिलेगी. देश की सबसे बड़ी रीयल एस्टेट कंपनी डीएलएफ ने सोमवार को क्यूआईपी पेशकश शुरू की थी. इसमें निवेशकों के लिए 17.3 करोड़ शेयरों की पेशकश की गई है.

बाजार सूत्रों के मुताबिक, करीब 183-184 रुपये प्रति शेयर के भाव पर डीएलएफ के क्यूआईपी पेशकश को दोगुना अभिदान मिला है. उन्होंने कहा कि इस पेशकश में भाग लेने वाले प्रमुख संस्थागत निवेशकों में यूबीएस, ओपेनहाइमर, एचएसबीसी, मार्शल एंड वेस, की स्क्वायर, गोल्डमैन साक्स, इंड्स, ईस्टब्रिज, टाटा म्यूचुअल फंड और एचडीएफसी म्यूचुअल फंड शामिल रहे. डीएलएफ की क्यूआईपी पेशकश शुक्रवार को बंद होगी.

डीएलएफ ने कंपनी को कर्ज-मुक्त करने के उद्देश्य से पिछले साल क्यूआईपी के जरिए शेयर जारी करने की योजना की घोषणा की थी. इसका मकसद पूंजी जुटाना और ऋण का भुगतान करना है. डीएलएफ ने 193.01 रुपये के भाव पर क्यूआईपी पेशकश शुरुआत की थी, लेकिन कहा था कि वह इस भाव पर 5 प्रतिशत तक की छूट दे सकती है.

कंपनी की तरफ से यह तीसरी बड़ी पूंजी जुटाने की प्रक्रिया है. इससे पहले उसने 2007 में आईपीओ के जरिए करीब 9,200 करोड़ रुपये जुटाए थे. साल 2013 में कंपनी ने संस्थागत नियोजन कार्यक्रम के माध्यम से करीब 1,900 करोड़ रुपये जुटाए थे.
यह भी पढे़ं : नए नियमों के आने के बाद सस्ता होगा टीवी बिल: ट्राई अध्यक्ष


Advertisements