जीएसटी लागू होने के पहले दिन शनिवार को मॉल्स में ऑफर, बाजारों में सन्नाटा

कानपुर कार्यालय संवाददाताजीएसटी लागू होने के पहले दिन शनिवार को साउथ एक्स समेत शहर के कई मॉल्सों में खरीदारी कम और नए कर से जुड़े सवाल ज्यादा पूछते नजर आए शहरी। इससे साफ है कि लोग असमंजस में हैं कि जीएसटी लागू होने से वह फायदे में हैं या उनकी जरूरतों की चीजों के दामों…

नोटबंदी: कैश की किल्लत से लेकर बिजनेस पर पड़ी मार

सरकार द्वारा आठ नवंबर को देशभर में नोटबंदी की घोषणा के बाद देश के अधिकतर बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की भीड़ देखने को मिली। किसी बैंक में कैश नहीं तो किसी एटीएम में नकदी की किल्लत।

जीएसटी रजिस्ट्रेशन को सिर्फ पांच दिन

कानपुर : जीएसटी पोर्टल में रजिस्ट्रेशन के लिए सिर्फ पांच दिन ही बचे हैं। 16 दिसंबर से शुरू हुई प्रक्रिया 31 दिसंबर को खत्म होने वाली है। पोर्टल में माइग्रेशन लॉगिन करने के बाद संपूर्ण विवरण भरने को कारोबारियों के लिए अभी तीन माह समय है। यह बात वाणिज्य कर विभाग के संयुक्त आयुक्त ओमप्रकाश…

73 फीसदी नए नोट दबा गए कनपुरिए

पांच सौ और हजार के नोटबंद होने के बाद से अब तक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया कानपुर के लिए करीब 5200 करोड़ रुपए जारी कर चुका है, लेकिन इनमें से सिर्फ 1400 करोड़ रुपए वापस बैंकों में पहुंचे हैं। ऐसे में करीब 73 फीसदी लोगों ने नए नोट दबा लिए हैं। यही वजह है कि…

कानपुर के ज्वैलर्स के घर समेत चार दुकानों में आयकर का छापा –

कानपुर. जिला कानपुर की आयकर विभाग टीम ने बुधवार को एक ज्वैलर्स के घर समेत चार दुकानों में एक साथ छापेमारी की है। आईटी टीम के साथ छापेमारी से मालिक समेत दुकानदारों में हड़कम्प मच गया है। स्वरूपनगर में रहने वाले दिलीप अग्रवाल पेशे से आभूषणों का कारोबार करते है। उनके स्वरूपनगर, नयागंज, पीपीएन मार्केट…

GOLD LIMIT:कालेधन पर एक और चोट, सरकार ने तय की सोना रखने की सीमा

नोटबंदी के बाद ब्लैकमनी को व्हाइट करने के लिए लोग सोना खरीद रहे थे। ऐसे लोगों पर नकेल कसने के लिए ही सरकार ने ये फैसला लिया है। इसके साथ ही हिंदू धर्म अधिनियम के मुताबिक इतना सोना घर में रखने की इजाजत पहले से ही है। लिहाजा सरकार ने देश में चल रही अफवाहों पर विराम लगाने के लिए देश के सामने अपना पक्ष रखा है

नोटबंदी से रीयल इस्टेट धड़ाम

पांच सौ और एक हजार के नोटबंदी का रीयल इस्टेट पर भी व्यापक असर पड़ा है। इसके चलते प्रॉपर्टी की खरीद-बिक्री से सरकार को होने वाली आय में भारी गिरावट आई है। नवंबर के पहले आठ दिनों को अलग कर दें तो पिछले वर्ष के मुकाबले रीयल एस्टेट व राजस्व आय का ग्राफ 14 दिन में 95 प्रतिशत तक लुढ़क गया है।

सब्जी कारोबार पर भारी अधूरी तैयारी

कानपुर दक्षिण संवाददाता : नोटबंदी की मार फल व सब्जी कारोबार पर पड़ रही है। बाजार में डिमांड के साथ ही नकदी का संकट है। ग्राहक बड़े नोट लेकर खरीदारी करने आ रहा है। व्यापार रेजगारी और उधारी से चल रहा है। दूसरे प्रदेशों में आवक न के बराबर हो गई है। फल व सब्जी…

सोच अच्छी लेकिन लागू करने का तरीका सही नहीं

कानपुर। नोटबंदी के बाद ई-भुगतान के आदेश से व्यापारी बेचैन हैं। दरअसल, बेचैनी भुगतान को लेकर नहीं बल्कि व्यवस्था बनाने की है। कारखानों में काम करने वाले अधिसंख्य मजदूरों के पास बैंक खाते ही नहीं हैं और लगभग सभी उद्योगों में दैनिक श्रमिक काम करते हैं। शाम को उन्हें नगद भुगतान देने की व्यवस्था है। सभी का यही कहना है कि कारोबारियों को भुगतान देना है चाहे नगद दें या बैंक खाते में लेकिन पहले मजदूरों को जागरूक किया जाना चाहिए।