जीएसटी लागू होने के पहले दिन शनिवार को मॉल्स में ऑफर, बाजारों में सन्नाटा

कानपुर कार्यालय संवाददाताजीएसटी लागू होने के पहले दिन शनिवार को साउथ एक्स समेत शहर के कई मॉल्सों में खरीदारी कम और नए कर से जुड़े सवाल ज्यादा पूछते नजर आए शहरी। इससे साफ है कि लोग असमंजस में हैं कि जीएसटी लागू होने से वह फायदे में हैं या उनकी जरूरतों की चीजों के दामों…

नोटबंदी: कैश की किल्लत से लेकर बिजनेस पर पड़ी मार

सरकार द्वारा आठ नवंबर को देशभर में नोटबंदी की घोषणा के बाद देश के अधिकतर बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की भीड़ देखने को मिली। किसी बैंक में कैश नहीं तो किसी एटीएम में नकदी की किल्लत।

इंटरनेट स्पीड के मामले में नेपाल और बांग्लादेश से भी पीछे है भारत!

स्लो इंटरनेट के मामले में भारत की हालत है ख़राब! एक तरफ सरकार नोटबंदी के बाद से ही कैशलेस इकॉनमी और डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने में लगी है। हालांकि एक नई रिपोर्ट में सामने आया है कि सरकार की इस मुहिम के रास्ते में सबसे बड़ा रोड़ा इंटरनेट स्पीड और साइबर सिक्योरिटी है। आंकड़ों…

73 फीसदी नए नोट दबा गए कनपुरिए

पांच सौ और हजार के नोटबंद होने के बाद से अब तक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया कानपुर के लिए करीब 5200 करोड़ रुपए जारी कर चुका है, लेकिन इनमें से सिर्फ 1400 करोड़ रुपए वापस बैंकों में पहुंचे हैं। ऐसे में करीब 73 फीसदी लोगों ने नए नोट दबा लिए हैं। यही वजह है कि…

कानपुर के ज्वैलर्स के घर समेत चार दुकानों में आयकर का छापा –

कानपुर. जिला कानपुर की आयकर विभाग टीम ने बुधवार को एक ज्वैलर्स के घर समेत चार दुकानों में एक साथ छापेमारी की है। आईटी टीम के साथ छापेमारी से मालिक समेत दुकानदारों में हड़कम्प मच गया है। स्वरूपनगर में रहने वाले दिलीप अग्रवाल पेशे से आभूषणों का कारोबार करते है। उनके स्वरूपनगर, नयागंज, पीपीएन मार्केट…

मेड इन इंडिया’ नहीं ब्रिटेन में बने पेपर पर छप रहे नए नोट

नया 500 व 2000 का नोट पूरी तरह से भारत में बने मैटेरियल से नहीं बना है। छपाई को छोड़ दिया जाए तो बाकी सामान विदेशों से मंगवाया गया है। इसका कागज ब्रिटेन से तो धागा इटली, यूक्रेन और यूके से आयात किया जा रहा है। यह इसलिए किया गया ताकि जल्‍दी से जल्‍दी नोट छप सकें, नहीं तो भारत में भी कागज और धागा का निर्माण किया जाता है

GOLD LIMIT:कालेधन पर एक और चोट, सरकार ने तय की सोना रखने की सीमा

नोटबंदी के बाद ब्लैकमनी को व्हाइट करने के लिए लोग सोना खरीद रहे थे। ऐसे लोगों पर नकेल कसने के लिए ही सरकार ने ये फैसला लिया है। इसके साथ ही हिंदू धर्म अधिनियम के मुताबिक इतना सोना घर में रखने की इजाजत पहले से ही है। लिहाजा सरकार ने देश में चल रही अफवाहों पर विराम लगाने के लिए देश के सामने अपना पक्ष रखा है

नोटबंदी से रीयल इस्टेट धड़ाम

पांच सौ और एक हजार के नोटबंदी का रीयल इस्टेट पर भी व्यापक असर पड़ा है। इसके चलते प्रॉपर्टी की खरीद-बिक्री से सरकार को होने वाली आय में भारी गिरावट आई है। नवंबर के पहले आठ दिनों को अलग कर दें तो पिछले वर्ष के मुकाबले रीयल एस्टेट व राजस्व आय का ग्राफ 14 दिन में 95 प्रतिशत तक लुढ़क गया है।

सब्जी कारोबार पर भारी अधूरी तैयारी

कानपुर दक्षिण संवाददाता : नोटबंदी की मार फल व सब्जी कारोबार पर पड़ रही है। बाजार में डिमांड के साथ ही नकदी का संकट है। ग्राहक बड़े नोट लेकर खरीदारी करने आ रहा है। व्यापार रेजगारी और उधारी से चल रहा है। दूसरे प्रदेशों में आवक न के बराबर हो गई है। फल व सब्जी…