नोटबंदी: कैश की किल्लत से लेकर बिजनेस पर पड़ी मार

सरकार द्वारा आठ नवंबर को देशभर में नोटबंदी की घोषणा के बाद देश के अधिकतर बैंकों और एटीएम के बाहर लोगों की भीड़ देखने को मिली। किसी बैंक में कैश नहीं तो किसी एटीएम में नकदी की किल्लत। Advertisements

73 फीसदी नए नोट दबा गए कनपुरिए

पांच सौ और हजार के नोटबंद होने के बाद से अब तक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया कानपुर के लिए करीब 5200 करोड़ रुपए जारी कर चुका है, लेकिन इनमें से सिर्फ 1400 करोड़ रुपए वापस बैंकों में पहुंचे हैं। ऐसे में करीब 73 फीसदी लोगों ने नए नोट दबा लिए हैं। यही वजह है कि…

सोच अच्छी लेकिन लागू करने का तरीका सही नहीं

कानपुर। नोटबंदी के बाद ई-भुगतान के आदेश से व्यापारी बेचैन हैं। दरअसल, बेचैनी भुगतान को लेकर नहीं बल्कि व्यवस्था बनाने की है। कारखानों में काम करने वाले अधिसंख्य मजदूरों के पास बैंक खाते ही नहीं हैं और लगभग सभी उद्योगों में दैनिक श्रमिक काम करते हैं। शाम को उन्हें नगद भुगतान देने की व्यवस्था है। सभी का यही कहना है कि कारोबारियों को भुगतान देना है चाहे नगद दें या बैंक खाते में लेकिन पहले मजदूरों को जागरूक किया जाना चाहिए।

डॉलर के मुकाबले अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा रुपया

नोटबंदी के बीच कारोबार की दुनिया से बुरी खबर है। आज यानि गुरुवार को रुपया डॉलर के मुकाबले 30 पैसा टूटकर 68.86 प्रति डॉलर पर आ गया। विदेशी पूंजी की सतत निकासी से रुपया प्रभावित हुआ है।

अब ATM से विद्ड्रॉल की लिमिट होगी 2500 रुपए

नई दिल्ली.500 और 1000 के पुराने नोटों को बंद करने के बाद देश में कैश को लेकर परेशानी हो रही है। बढ़ते दबाव के बीच रविवार को फाइनेंस मिनिस्ट्री ने बैंकों ऑर्डर दिए कि एक बार में एटीएम से विद्ड्रॉल करने की लिमिट 2000 रुपए से बढ़ाकर 2500 रुपए की जाए। कैश एक्सचेंज की लिमिट भी 4000 रुपए से 4500 रुपए…

SBI में अब 24 घंटे जमा हो सकेगा कैश, खुलेंगे ई-कॉर्नर

रात दस बजे के बाद कुछ ही बैंकों के गिने-चुने एटीएम रात में खुले रहते हैं। लेकिन रुपए जमा करने हों तो यह सिर्फ सुबह से देर शाम तक ही संभव हैं। लेकिन उसके बाद आकस्मिक अवस्था में किसी को किसी के खाते में कैश रुपए जमा करने हों तो यह संभव नहीं था। लेकिन एसबीआई मुख्य शाखा ने यह सुविधा शुरू कर दी है। मुख्य शाखा में नीचे ई-कॉर्नर लगा है।